हमारे शुभचिंतक व प्रेरणा स्त्रोत – OUR WELL WISHERS AND IDEALS

01-भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर 
इन्ही की मुख्य प्रेरणा से यह वंचितों के लिए संगठन बनाया गया है |

baba ji2

 

 

 

 

02- स्व. श्री श्रीराम सर्वटे (6 जून 1920 11 जून 1972)

Dada ji

  • वे एक स्वतंत्रता सेनानी, दलितो के महान नेता थे | वे राजस्थान प्रदेश सफाई मजदूर कांग्रेस के अध्यक्ष रहे | 
  • वे नगर परिषद जोधपुर के दो बार पार्षद  सदस्य निर्वाचित हुवे थे तथा  नगर सुधार न्यास जोधपुर के सदस्य रहे |
  • अपने जीवन काल के 52 वर्षों में हमेशा दलितो एवं पिछड़े वर्ग के अधिकारों के लिए संघर्ष किया | इसके साथ ही आज़ादी कि लड़ाई में उन्होंने शेरे राजस्थान स्व. श्री जय नारायण व्यास व स्व. श्री बरकतउल्लाह खान (भू. पू. मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार) के साथ कंधे से कंधा मिला कर संघर्ष किया उन्होंने ताउम्र एक दबंग व कुशल नेतृत्व वाले समाजसेवी नेता के रूप में एक अभूतपूर्व मिशाल कायम की जिसके कारण वे आज भी वाल्मीकि समाज में दलित ह्रदय सम्राट के रूप में जाने जाते है | वे मेरे दादाश्री थे, जिनका स्वर्गवास मेरे जन्म से पहले ही हो गया अत: उनकी दबंगता, ईमानदारी, कुशल नेतृत्व क्षमता आदि गुणों के  बारे में सुन सुन कर मै बहुत प्रभावित व समाजसेवा हेतु प्रेरित हुवा हूँ |

03-श्री विष्णुदेव सर्वटेSarvate Family (9)

दलितो के मसीहा बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर साहेब के कट्टर अनुयायी व अपने पिता स्व. श्री श्रीराम सर्वटे के पदचिन्हों पर चलते हुवे उन्होंने भी अपने पिता की तरह समाज सेवा में बड़ा कीर्तिमान स्थापित किया | वे एक शांत, सुशील, संत प्रवर्ति के परन्तु दबंग व निडर नेता थे, इसी क्रम में उन्होंने एक पाक्षिक अखबार “अहिंसा के पथ पर” नामक शीर्षक भी शुरू किया था तथा उन्होंने अपने जीवन काल के 58 वर्ष तक अनुसूचितजाति-जनजाति अन्य पिछड़ी जातियों के साथ साथ सभी जातियों के गरीब व वंचितों के लिए कार्य किया | वे मेरे मुख्य प्रेरणा स्त्रोत है जिनके अल्प समय में चले जाने के बाद उनके समाज कार्य का बीड़ा मैंने व मेरे साथियो ने अपने कंधे पर लिया है | उनका सपना था की समाज की एक वेबसाईट होनी चाहिए जिसमे सबकुछ हो | इसी क्रम में मेरे साथी, मैं ओर मेरे दोनों बेटे युगेश व हार्दिक यह वेबसाईट बना पाए है | 

VLM LDS04-श्री लक्ष्मणसिंह सिंघारिया 
वर्तमान समय के राजस्थान के सीधे-सादे अम्बेडकर साहब, जो स्व. श्री विष्णुदेव सर्वटे के साथी है | इनके द्वारा इस संगठन का टाईटल वंचित लोक मंच दिया गया था | जिसको बाद में मैंने ओर मेरे साथियो ने राष्ट्रीय स्तर पर विकसित करके राष्ट्रीय वंचित लोक मंच के रूप में विकसित कर दिया | आप हमारे संगठन के स्थायी राष्ट्रीय संरक्षक व मार्गदर्शक है | 

05- AAHWAHAN PRATISTHAN – आह्वाहन प्रतिष्ठान 

aavhan_tयह मुम्बई की वो राष्ट्रीय स्तर की रजिस्टर्ड संस्था है जिन्होंने हमें अपने संगठन से सम्बद्द्ता (AFFILATION) देकर हमें पुरे भारत में हमारे सामाजिक कार्यों में सहयोग व साथ दिया है, साथ ही हमें अधिकृत किया की हम पुरे भारत में किसी भी राज्य, संभाग, जिले आदि में इस संगठन की शाखा, प्रकोष्ठ, परिषद, समिति का निर्माण कर सकते है |

06. संस्थापक व संस्थापक सदस्यगण निम्न है।

श्री सचिन सरवटे-मुख्य संस्थापक
श्री लक्ष्मण सिंघारिया-संस्थापक सदस्य
श्रीमति सविता/श्री सचिन सरवटे-मुख्य संस्थापक सदस्य
श्री संदीप सरवटे/श्री विष्णुदेव सरवटे-संस्थापक सदस्य
श्री महेश बोयत/श्री मदनलाल बोयत-संस्थापक सदस्य
श्री युगेश सरवटे/श्री सचिन सरवटे-संस्थापक सदस्य
श्री हार्दिक सरवटे-श्री सचिन सरवटे-संस्थापक सदस्य

सचिन सर्वटे
राष्ट्रीय अध्यक्ष

Advertisements